कार्यपालिक मजिस्ट्रेट एवं पुलिस की संयुक्त बैठक हुई आयोजित

होशंगाबाद। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी शीलेंद्र सिंह की अध्यक्षता में कार्यपालिक मजिस्ट्रेट एवं पुलिस की संयुक्त बैठक आयोजित की गई। बैठक में पुलिस अधीक्षक एम एल छारी, अपर कलेक्टर केडी त्रिपाठी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक घनश्याम मालवीय, समस्त एसडीएम, तहसीलदार तथा सेक्टर अधिकारी उपस्थित रहें। बैठक में कलेक्टर सिंह ने कहा कि सभी कार्यपालिक मजिस्ट्रेट एवं पुलिस आदर्श आचार संहिता के अनुपालन में सख्ती से कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। मतदान केन्द्रो का संयुक्त निरीक्षण करें तथा वहां मूल भूत सुविधाएं एवं सुरक्षा आदि की संपूर्ण व्यवस्था के लिए आवश्यक कार्यवाही करें। कैश, हथियार, अवैध शराब आदि की जप्ती की कार्यवाही कडाई से करें।

महत्वपूर्ण पांइट्स पर वाहनों की सघन चैकिंग करें। संपत्ति विरूपण के मामलों में जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाए। संपत्ति विरूपण अधिनियम का उलंघन करने वालो पर प्रकरण दर्ज करें। कोलाहल नियंत्रण अधिनियम के अंतर्गत उल्लंघन करने वालों पर भी कार्यवाही करें। श्री सिंह ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार सोशल मीडिया पर भी आदर्श आचार संहिता लागू होती है। सोशल मीडिया पर संहिता का उल्लंघन करने वाले पोस्ट डालने वाले व्यक्तियों पर भी कार्यवाही की जाएगी।

कलेक्टर ने कहा कि नकदी जप्त करते समय कार्यवाही की पूरी वीडियोग्राफी कराएं। यदि व्यक्ति के पास नकदी से संबंधित संपूर्ण दस्तावेज है तो जप्ती की आवश्यकता नहीं है। उन्होने कहा कि नामांकन के समय कलेक्ट्रेट गेट के अंदर केवल 3 वाहनों को प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। रिटर्निंग अधिकारी के कक्ष में अभ्यर्थी सहित केवल 5 व्यक्ति प्रवेश कर पाएंगे। स्थानीय पुलिस एवं कार्यपालिक मजिस्ट्रेट इसके लिए जिम्मेदार होंगे। उन्होने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे लोकसभा निर्वाचन को दृष्टिगत रखते हुए आपराधिक व्यक्तियों के विरूद्ध बाँडओवर, जिला बदर आदि की प्रभावी कार्यवाही कराना सुनिश्चित करें।

बैठक में पुलिस अधीक्षक एम.एल. छारी ने कहा कि सभी थाना प्रभारी शस्त्र लायसेंस की सूची के अनुसार निलंबित शस्त्रों को थाने में जमा कराएं। नियमो का उल्लंघन करने वालो पर कार्यवाही करें। अपर कलेक्टर केडी त्रिपाठी ने निर्वाचन नियमो का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों पर लगने वाली विभिन्न धाराओं के बारे में बताया। बैठक में जिले में वल्नरेबल मतदान केन्द्रो की मेपिंग के बारे में विस्तार से चर्चा की गई।