वाराणसी। यूपी के कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव बहुजन समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर बीते कुछ वक्त से योगी आदित्यनाथ की अगुआई वाली बीजेपी सरकार पर तीखे हमले करते रहे हैं। हालांकि, रविवार को उनके रुख में बिलकुल यूटर्न देखने को मिला।

एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के मुताबिक, राजभर ने कहा कि सपा और बसपा ने इसलिए गठबंधन कर लिया है क्योंकि वह ‘भगवान हनुमान के वशंज’ हैं और बीजेपी के साथ हैं। राजभर का दावा है कि सपा और बसपा ने ओबीसी और दलित समुदाय के लोगों को यूपी में अपने कार्यकाल के दौरान लूटा। हमलावर रुख अपनाए राजभर ने कांग्रेस को भी निशाने पर लिया। एचटी की रिपोर्ट के मुताबिक, राजभर वाराणसी में अपनी पार्टी द्वारा आयोजित ‘अति पिछड़ा अति दलित अधिकार रैली’ को संबोधित कर रहे थे। राजभर के मुताबिक, सपा और बसपा, दोनों ही पार्टियों को पता था कि वे अकेले नहीं जीत सकतीं।

राजभर ने खुद की ओर इशारा करते हुए कहा, ‘जब से इस भगवान हनुमान के वंशज ने भारतीय जनता पार्टी का समर्थन किया है, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी बिलकुल खामोश हैं। दोनों ही पार्टियों को पता है कि वे अकेले चुनाव नहीं लड़ सकतीं। इस वजह से सपा और बसपा ने गठबंधन किया है।’