सिवनी मालवा। किसान की खून पसीने से सींची हुई फसल पककर कटने की कगार पर थी कटाई भी प्रारंभ हो गई थी पर इश्वर को कुछ और ही मंजूर था अचानक किसान की मेहनत धूं धूं कर जलने लगी जब तक किसान कुछ कर पाता तब आग बहुत बड़े हिस्से में फ़ैल चुकी थी।

घटना होशंगाबाद जिले के सिवनी मालवा के ग्राम भैरोपुर में की गेहूं की ख़डी फसल में आग से 5 एकड़ फसल जलकर खाक हो गई। दोपहर में अचानक आग लगी आग की खबर लगते ही ग्रामवासियों ने आग पर काबू पाने की कोशिश की परन्तु आग बढ़ते ही जा रही थी भी फायर गाड़ी पहुंची और आग और काबू पाया गया। आसपास गेंहू की फसलें खड़ी थी यदि आग नही बुझती तो कई एकड़ फसल जल जाती।

प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम भैरोपुर में जिस किसान के खेत में आग लगी वह अशोक कुमार दुबे का बताया जा रहा है। आगजनी की जानकारी मिलते ही तुरन्त पुलिस सहित प्रशसनिक अमला भी घटना स्थल पर पहुँच गया था। जहाँ जले हुए खेत का पंचनामा पटवारियों के द्वारा बनाया गया। वही नायब तहसीलदार नीलेश पटेल ने भी जले हुए खेत का निरिक्षण कर किसान से हुए नुकसान की जानकारी ली।

जब तक फायर बिग्रेड पहुंची किसानो ने बुझाई आग
आग लगते ही पूरा गाँव खेत की तरफ भागने लगा सब अपने अपने तरीके से आग बुझाने की कोशिस में लगे रहे वही किसानो के द्वारा कीटनाशक डालने वाले पम्पो से भी आग बुझाई गई जब तक फायर बिग्रेड किसान के खेत पर पहुंची तब किसानो ने चैन की सांस ली। किसानो ने बताया की खेत के चारो और गेहूं की फसल खड़ी थी यदि आग फ़ैल जाती तो बहुत आग को रोना असम्भव हो जाता।

एक फायर बिग्रेड के भरोसे 178 गाँव
जिले की सबसे बड़ी तहसील सिवनी मालवा के अंतर्गत लगभग 178 गाँव आते है जो कृषि पर आश्रित है, परन्तु इन सभी के लिए नगर पालिका के पास सिर्फ एक फायर बिग्रेड है जो की आगजनी की घटना में हर जगह मौके पर पहुँचने के लिए सक्षम नहीं है। वही सभी ग्राम पंचायत की पास फायर फाइटर है परन्तु अधिकतर पंचायतों में फायर फाइटर कबाड़ हो चुके है जिसका खामियाजा किसानो को भुगतना पड़ता है।