मुंबई| भारतीय क्रिकेट ने नये युग में कदम रखा जब आज यहां विराट कोहली को आधिकारिक रूप से सभी प्रारूपों में टीम इंडिया का कप्तान नियुक्त किया गया। कोहली को इंग्लैंड के खिलाफ सीमित ओवरों की श्रृंखला के लिए टीम की कप्तानी सौंपी गई है जिसमें युवराज सिंह और आशीष नेहरा ने भी वापसी की है।

नौ साल से अधिक समय तक टीम की कप्तानी करने वाले महेंद्र सिंह धोनी विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में टीम का हिस्सा हैं जबकि एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वापसी राष्ट्रीय चयन समिति ने दिल्ली के युवा विकेटकीपर रिषभ पंत को टी20 टीम में शामिल करके संकेत दे दिए हैं कि वे किसे धोनी का उत्तराधिकारी समझते हैं।

चयन समिति की बैठक में आज काफी ड्रामा भी देखने को मिला जबकि तकनीकी कारणों से इसमें तीन घंटे का विलंब हुआ और बाद में लोढा समिति की स्वीकृति के बाद बैठक शुरू हुई उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद संयुक्त सचिव अमिताभ चौधरी के भी डिस्क्वालीफाई होने के बाद आज की बैठक बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी ने बुलाई। पिछले हफ्ते बीसीसीआई के सभी आला अधिकारियों को बख्रास्त कर दिया गया था।

अजिंक्य रहाणे को टी20 टीम से बाहर कर दिया गया है। पंत को बल्लेबाज के रूप में उनकी जगह टीम में शामिल किया गया है।

प्रसाद ने पूर्व कप्तान धोनी की सराहना करते हुए कहा, ‘‘हमें पता है कि माही क्या चीज था, वह प्रकृति से कप्तान है, मोर्चे से अगुआई करने वाला।’’ युवराज रणजी ट्राफी में काफी अच्छी फार्म में रहे और इस दौरान उन्होंने पांच मैचों में 84 की औसत से 672 रन बनाए। इसमें बड़ौदा के खिलाफ 260 रन उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर रहा। इसके बाद उन्हें अपनी शादी के लिए ब्रेेक लिया।