कृष्णा पंडित/वाराणसी श्यामा नगर कालोनी (भेलूपुर) स्थित एक गेस्ट हाउस में सुबह से लेकर संदिग्ध लोगों के संग युवतियों का आना-जाना लगा रहता था। कालोनीवासियों को यह काफि दिनों से खटक रहा था लेकिन किसी ने इसकी शिकायत नहीं की थी। रविवार की शाम सटीक सूचना के आधार पर पुलिस ने छापेमारी की लेकिन इसके बाद काफी देर तक फोर्स भीतर से निकली ही नहीं। महिला पुलिस के संग छापेमारी की सूचना पर मीडिया वहां पहुंच गयी। बताया जाता है कि मामले को ‘मैनेज’ करने की खातिर प्रयास चल रहे थे लेकिन आला अधिकारियों तक प्रकरण की जानकारी की भनक मिलने पर चार युवतियों को थाने लाया गया। खास यह दावा भले आपत्तिजनक स्थिति में मिलने का किया गया हो लेकिन गेस्टहाउस संचालक को छोड़ किसी पुरूष को उनके साथ नहीं पकड़ा गया है।

काफी समय से त्रस्त थे कालोनीवासी
कालोनीवासियों का कहना था कि पहले यहां कम्प्यूटर इंस्टीट्यूट चलता था। यहां पर छेड़खानी के आरोप लेकर पहले भी विवाद हुआ था। इसके बाद घर को गेस्ट हाउस में तब्दील कर दिया गया लेकिन संदिग्ध लोगों का आना जाना रहता था। आश्चर्यजनक यह भी सीओ को मामले की जानकारी नहीं थी और छापेमारी के बाद उन्हें मीडिया ने बताया। आरोप है कि जिन लड़कियों को उठाया गया है वह गेस्ट हाउस के मालिक के साथ मिलकर सेक्स रैकेट चलाती थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।