सारनी थाना क्षेत्र के मठारदेव कालोनी की घटना, पुलिस के रात्रिकालीन गश्त पर उठ रहे सवाल

सारनी। नगर में चोरों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि अब इन्हें शायद पुलिस प्रशासन का भी कोई डर नहीं है। क्योंकि अब बिजली कर्मचारी आवासीय कॉलोनियों में भी चोरी की वारदात को अंजाम देने से बाज नहीं आ रहे हैं जबकि इन आवासीय कालोनियों के आसपास अन्य कर्मचारी भी निवास करते है और सभी के आवास एक दूसरे से जुड़े रहते हैं। जिससे अब बिजलीकर्मी अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे है। बढ़ती चोरी का एक नया मामला प्रकाश में आया है। जिसमें बिजलीकर्मी के सूने मकान से अज्ञात चोरों ने लाखों के जेवरात सहित, नकदी , एलईडी टीवी सहित अन्य सामान में हाथ साफ किया है।

बताया जा रहा है कि नगर के वार्ड नंबर 8 मठारदेव कॉलोनी में सारनी पावर हाउस में कार्यरत लीलाधर पाटिल के आवास क्रमांक सुपर डी 494 में चोरों ने हाथ साफ कर लगभग 10 लाख रुपये कीमत के जेवरात, नकदी ,एलइडी टीवी ले गए। परिजनों द्वारा बताया गया कि उनका पूरा परिवार 28 नवंबर को निजी कार्य से खंडवा गया हुआ था एवं 30 नवंबर को परिवार रात्रि लगभग 9 बजे सारनी पहुंचा। अपने आवास पहुंचकर देखने पर उनके होश उड़ गए। उन्होंने देखा कि आवास के मुख्य दरवाजे का कुंदा टूटा हुआ है। अंदर जाकर देखने पर पाया कि सामान पूरे बिखरे पड़े हुए हैं एवं दोनों आलमारियों के लॉक टूटे हुए हैं एवं आलमारी का सामान फर्श पर अस्त-व्यस्त पड़ा हुआ है। आलमारी की जांच की गई तो उसमें रखे सोने- चांदी के जेवर नहीं थे। साथ ही नगदी भी गायब थी और दीवार लगा एलइडी टीवी भी नहीं था, जिनकी कीमत लगभग 10 लाख रुपये के आसपास बताई जा रही है। जिसमें दो सेट सोने के नेकलेस ( हार -कान के झुमके एवं सोने की चूड़ी ) सोने की चेन, सोने की अंगूठी , चांदी के पायल, नगदी 33 हज़ार रुपये एवं एलइडी टीवी शामिल है। इसके अलावा अन्य सामग्रियों पर भी चोरों ने हाथ साफ किया है। परिजनों ने यह सब देख कर सारनी थाने में इस मामले की एफआईआर दर्ज कराई है। जिस पर फिंगरप्रिंट एक्सपर्ट की टीम द्वारा शनिवार दोपहर को चोरी की घटना हुई आवास में पहुंचकर जांच किया गया।

पुलिस के रात्रि गश्त करने पर भी, हो रही चोरी से उठ रहे सवाल
इस प्रकार क्षेत्र में बढ़ती चोरियों की घटनाओं के चलते पुलिस की कार्यप्रणाली पर कई बार सवाल खड़े हो चुके हैं एवं वर्तमान में लाखों की चोरी से फिर पुलिस की रात्रि कालीन गश्त करने पर भी सवाल खड़े किए जा रहे हैं। क्योंकि जब पुलिस टीम द्वारा रात्रि कालीन समय में क्षेत्र में गश्त की जाती है इसके पश्चात भी इस तरह की चोरी की घटनाएं घटित हो रही है। जिसके कारण नागरिक अपने आपको सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं और क्षेत्र में चोरों के हौसले बुलंद नजर आ रहे हैं।