खंडवा|परिजनों की शिकायत के बाद गुरुवार को कब्र से युवक का शव बाहर निकलवाकर पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भिजवाया। परिजनों द्वारा चार लोगों पर हत्या का आरोप लगाने के बाद पुलिस ने यह कदम उठाया। सिहाड़ा रोड स्थित ढाबे पर सोमवार शाम को मोहम्मद शहजाद की संदेहास्पद मौत हो गई थी। परिजनों ने मौत को सामान्य मानते हुए उसे दफना दिया था, लेकिन एक कॉल के आने के बाद मामले ने नया मोड़ ले लिया।
शिकायतकर्ता खालेदा पति मोहम्मद शहजाद निवासी मीरपुरा ने बताया मेरे पति माेहम्मद शहजाद को मीरपुरा का शेख चांद पिता शेख बाबू (32) काम करने के लिए सिहाड़ा रोड स्थित ढाबे पर ले गया था। वे 250 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से एक महीने से काम कर रहे थे। रात की चौकीदारी भी करते थे, इसलिए ढाबे पर ही ज्यादा समय रहते थे। मेरे पति 4-5 नवंबर को घर आए थे और दो-तीन दिन ढाबे पर काम करने नहीं गए, क्योंकि ढाबे का मालिक उन्हें बराबर मजदूरी नहीं दे रहा था। 5 नवंबर को चांद का भांजा तनवीर और एक अन्य युवक मेरे पति को घर से ढाबे पर काम करने जबरदस्ती ले गए।
सात दिन बाद आई मौत की खबर – मृतक की पत्नी खालेदा ने बताया 12 नवंबर को मुझे पता चला पति की अचानक ढाबे पर मौत हो गई है। मेरा बेटा मोहम्मद शाहिद, भतीजा राजिक एवं खालिद, देवर युसुफ को चांद ने सूचना दी की शहजाद की मौत हो गई है। वह काफी घबराया हुआ था। चांद को एक दिन पहले मेरे बेटे ने फोन लगाकर कहा कि मेरे पापा से बात करवा दो, तब चांद ने कहा कि वह अभी सो रहे है, लेकिन बात नहीं कराई। मेरे बच्चे सामान्य मौत समझकर सोमवार शाम शव घर ले आए।

तुम्हारे पति को नग्न कर बेरहमी से मारा है : खालेदा ने बताया कि मेरे पति की लाश जब कब्रिस्तान ले जाने की तैयारी कर रहे थे तभी जाकिर डब्बा का फोन अाया कि तुम्हारे पति की सामान्य मौत नहीं हुई है। उसे बेरहमी से पीटकर मारा है। उसे नंगा कर बांध दिया था। शरीर पर ठंडा पानी डालकर पिटाई की गई थी। जिसका चांद के मोबाइल में वीडियो बना हुआ है उसने यह वीडियो कई लोगों को दिखाया। लाश को जनाजे में रख दिया था उसे रोकना उचित नहीं समझा और कब्रिस्तान ले जाकर दफना दिया।

पत्नी बोली- इंसाफ चाहिए : मृतक की पत्नी ने कहा कि मुझे इंसाफ चाहिए। मुझे पूरी तरह से यकीन है कि मेरे पति को शेख चांद, इम्तियाज और अन्य कर्मचारियों ने मारा है। चांद के मोबाइल की जांच में मारपीट का वीडियो सामने आ सकता है। पोस्टमार्टम होने पर मौत का कारण भी सामने आ सकता है।

तीन घंटे थाने में अधिकारियों के आगे-पीछे घूमता रहा चांद – ढाबा संचालक संदेही शेख चांद पुलिस का सहयोगी है। उसे मंगलवार शाम ही पता चल गया कि मृतक शहजाद के परिजन उसकी शिकायत करने वाले हैं। इसलिए वह बुधवार सुबह से ही थाने आकर अधिकारियों से मिलता रहा। शेख चांद पुलिस का सहयोगी है। इसलिए पीड़ित महिला की शिकायत भी मोघट थाने में जल्द सुनी नहीं गई। टीआई ने निष्पक्ष कार्यवाही का आश्वासन दिया है।

एसपी ने जांच के निर्देश दिए : मृतक की पत्नी खालेदा व अन्य परिजन एसपी रूचिवर्धन मिश्र से मिले। शिकायत सुनने के बाद एसपी ने मोघट थाना टीआई को मर्ग कायम कर समुचित जांच कर आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए। मर्ग कायम होने के बाद शव निकालने के लिए एसडीएम से अनुमति ली गई और शव को बाहर निकाला गया। डॉक्टरों की टीम मृतक का पोस्टमार्टम कर पुलिस को रिपोर्ट सौंपेगी। इसके बाद आगे की कार्यवाही होगी।