सिवनी मालवा। कुसुम महाविद्यालय की कक्षाओं में ग्रामीण एंव शहरी क्षेत्र से आने वाले छात्र-छात्राएं अश्लील हरकते हुए सीसीटीव्हीं कैमरे में महाविद्यालय के प्राध्यापकों को नजर आए। जिसके बाद महाविद्यालय प्राचार्य बीएल डहरिया, प्राध्यापक अशोक यादव, राजेंश रघुवंशी, किरण पगारे सहित अन्य प्राध्यापक कक्षाओं में पहुंचे और छात्र-छात्राओं को फटकार लगाते हुए पंचनामा तैयार किया।

अभी समझाइस दी है अब नजर आए तो परिजनों को करेगें सूचित
महाविद्यालय के प्राचार्य बीएल डहरिया ने बताया कि महाविद्यालय में किसी भी प्रकार की अश्लील हरकत बर्दाश्त नहीं कि जाएगी। अभी छात्र-छात्राओं को समझाइस दी गई है। यदि आगे से ऐसी हरकतें अन्य छात्र-छात्राएं करते हुए नजर आए तो उनके परिजनों को भी इसकी जानकारी दी जाएगी।

पालक भी समझें जिम्मेदारी
ग्रामीण एंव शहरी क्षेत्र से स्कूल एंव कांलेज में अध्ययन करने आने वाले छात्र-छात्राएं महाविद्यालय या स्कूल कालेज पहुंच रहे है या नहीं, या फिर क्या कर रहे है इसकी जिम्मेदारी पालकों को भी लेनी चाहिए। लकिन पालक यहीं भूल कर जाते है। जिसका खामियाजा उठाना पड़ता है। शहर के समाजसेवीयों का मानना है कि पालकों को भी व्यस्क हो चुके बच्चों को समय देना चाहिए। वहीं उनके शिक्षण संस्थान में जाकर भी उनकी जानकारी लेनी चाहिए। जिससे सभ्य समाज का निर्माण हो सकें।