सिवनी मालवा। कहते हैं कि सत्ता का नशा सबसे ज्यादा मदमस्त करने वाला होता है। इस के आगे दौलत, मदिरा या ड्र्ग्स का नशा कुछ भी नही। बड़े-बड़े राजे-रज़वाड़े, सम्राट और साम्राज्य इस नशे के चक्कर में आने के बाद नष्ट- भ्रष्ट हो जाते हैं।

ऐसा ही एक मामला होशंगाबाद जिले की सिवनी मालवा तहसील के बानापुरा स्टेशन पर देखने को मिला जहाँ स्टेशन मास्टर के पद पर पदस्थ राजेंद्र प्रसाद मगरैया ने राजनीती में अपनी किस्मत आजमाने के लिए अपने पद से इस्तीफा दे दिया। मगरैया पूरी तरह से चुनावी रंग में रंगने को तैयार है।रेलवे के द्वारा उनका इस्तीफा भी स्वीकार कर लिया गया है। वे होशंगाबाद विधानसभा से ही चुनाव लड़ने का मन बना चुके है। वही बहुजन समाज पार्टी से चुनाव लड़ना चाहते है।

उन्होंने एक बड़ी बात भी कही है, की रेलवे मैं दलितों का बहुत शोषण किया जाता है। जिसके चलते उनका राजनीति मे आने का मन हुआ है। वे राजनीति मैं आकर दलितों के लिये काम करना चाहते है। आइये आपको मिलाते है,शासकीय नौकरी छोड़ राजनीति मे आने वाले आरपी मगरैया से।