सिवनी मालवा। राम मंदिर मुद्दा भाजपा की नीव माना जाता रहा है। वर्षो तक भाजपा इसी मुद्दे को भुनाते हुए चुनाव जीतकर सत्ता में आती रही है। वर्तमान परिद्रश्य में सभी राजनितिक दल के नेता देश के ज्वलंत मुद्दे जिससे दो विशेष समुदाय की आस्था जुड़ी हुई है पर बोलने से बचते नजर आते है। वही भाजपा के कद्दावर एवं अजय नेता तथा पूर्व केन्द्रिय मंत्री ने शनिवार एक क्षेत्रिय कार्यक्रम के दौरान अपने उद्भोधन में कहा की अब समय आ गया है मंदिर के पक्ष में माहौल बनने लगा है। जो लोग मंदिर का विरोध करते थे वो अब समर्थन में दिखाई दे रहे है। इससे भी दो कदम आगे जाते हुए सरताज सिंह ने कहा की अब सन 2018 में राम मंदिर का निर्माण हो जायेगा।

देखें पूरा विडियो

बयान के बाद से ही प्रदेश एवं देश में सरताज सिंह भाजपा के ऐसे पहले नेता बन गए है जिन्होंने मंदिर निर्माण पर खुलकर निर्माण वर्ष का उल्लेख किया है। सिंह ने मंदिर निर्माण की घोषणा तो कर दी है परन्तु देखने वाली बात ये है की इस बयान का असर कहा तक होता है? क्या भाजपा इस बयान के समर्थन में खड़ी नजर आएगी। क्यूंकि अभी तक कांग्रेस पार्टी भाजपा पर तंज कसती आई है की मंदिर जरुर बनायेंगे पर तारीख नहीं बताएँगे। इस तंज का जवाब भाजपा के धाकड़ नेता सरताज सिंह ने मंदिर बनाने के सन का उल्लेख करके कांग्रेस को दिया है। अब कांग्रेस की प्रतिक्रिया क्या रहेगी यह भविष्य के गर्त में है।