संजीव डोंगरे / सारनी – ब्लॉक कांग्रेस कमेटी सारनी के द्वारा कांग्रेस पार्टी के टिकट से निर्वाचित वार्ड क्रमांक 21 के पार्षद सुश्री पूनम भारती एवं वार्ड क्रमांक 22 के पार्षद सुखदेव वामनकर को पार्टी के आदेश की अवहेलना कर अनुशासनहीनता करने पर 6 साल के लिए कांग्रेस पार्टी से निष्कासित करने की कार्यवाही की है ।

ब्लॉक कांग्रेस कमेटी सारनी के अध्यक्ष भगवान जावरे ने बताया कि जैसा की सारनी नगर पालिका में निर्दलीय नपाध्यक्ष निर्वाचित हुए हैं और पार्टी के निर्वाचित पार्षदों को प्रेसिडेंट इन कौंसिल में शामिल नही होने का आदेश दिया गया था । साथ ही यदि पार्टी के पार्षदों को पीआईसी में शामिल होना होता है तो उसे कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष से अनुमति लेने के पश्चात ही पीआईसी में शामिल होने का प्रावधान है । जिसके लिए पार्टी द्वारा सभी पार्षदों को सूचित किया गया था । इसके पश्चात भी पार्टी की गाइड लाइन से हटकर इन दोनो पार्षदों ने निर्दलीय नपाध्यक्ष को समर्थन कर पीआईसी में शामिल हो गए। पार्टी के द्वारा इन दोनों पार्षदों को चेतावनी देने के बाद भी वह पीआईसी मेंबर में शामिल हैं। साथ ही अन्य पार्षदों को पीआईसी में शामिल होने का दबाव बना रहै है । गौरतलब हो कि वार्ड क्रमांक 21 से पार्षद पूनम भारती नगर पालिका अध्यक्ष आशा भारती की बेटी है और पीआईसी में सभापति है।

उन्होंने बताया कि ब्लॉक कांग्रेस कमेटी कार्यालय पाथाखेड़ा में 21 दिसंबर को पार्टी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं की बैठक आयोजित किया गया था । बैठक में अन्य मुद्दों सहित पार्टी पार्षदों के पीआईसी में शामिल होने के मुद्दे पर चर्चा किया गया । जिसमें सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया कि इन दोनो पार्षदों द्वारा पार्टी के आदेशों की अवहेलना कर अनुशासनहीनता की गई है। जिसके चलते दोनों पार्षदो को पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित किया गया है ।