सिवनी मालवा |एक और जिला निर्वाचन अधिकारी आए दिन अपने अधीनस्थ अधिकारियों को आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन नहीं होना चाहिए इसके पाठ पढ़ा रहे है जिसके चलते कई बार सिवनी मालवा नगर में अनुभिगायीय अधिकारी थाना प्रभारी के अलावा अन्य अधिकारियों की टीम ने फ्लैग मार्च करके जगह-जगह लगे बैनर पोस्टर को जप्त किया है और जप्त करते समय आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन ना करने के लिए बताया भी जा रहा है।
इसके बाद भी नगर में कई स्थानों पर आज भी शिलालेख सहित कई शासकीय स्थानों पर राजनीतिक पोस्टर लगे हुए है। जी हाँ हम बात कर रहे है सिवनी मालवा के शासकीय कुसुम महाविद्यालय एवं तीर्थ स्थल कहे जाने वाले मानस धाम दूधिया बड़ में बने मांगलिक भवन की जहाँ खुलेआम आदर्श आचार संहिता का मखौल उड़ाया जा रहा है कुसुम महाविद्यालय में जब इसके वीडियो मीडिया के द्वारा बनाए गए तो कैमरा देखने के बाद यहां मौजूद कर्मचारी ने अपने से वरिष्ठ अधिकारियो के कहने पर गेट पर लगे एबीवीपी के राजनितिक पोस्टर फाड़ दिया। जबकि वीडियो स्वयं मीडियाकर्मियों के द्वारा बनाया जा चुका था।
वही मानस धाम स्थित मांगलिक भवन में खुले शिलालेख के बारे में तहसीलदार दिनेश सावले से चर्चा करने पर उन्होंने तत्काल कार्रवाई करते हुए निर्वाचन आयोग के उड़न दस्ते को कार्रवाई करने के लिए रवाना कर दिया गया निर्वाचन आयोग द्वारा भले ही बार बार हिदायत दी जा रही है फिर भी वास्तविकता में आदर्श आचार संहिता लागू करवाने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों की क्या तैयारियां है उसकी तस्वीर हम आपको दिखा ही रहे है जिसके तहत खुलेआम आचार संहिता का उल्लंघन किया जा रहा है।