पंजाब। अमृतसर में शुक्रवार को दशहरे का उत्सव बड़े मातम में तब्दील हो गया। वहां रावण दहन के दौरान भीड़ तेज़ रफ़्तार ट्रेन की चपेट में आ गई, जिसमें कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई। “घटना शाम क़रीब 6.30 बजे की है। अमृतसर के जोड़ा फाटक पर रेलवे ट्रैक के पास रावण दहन किया जा रहा था। इस दौरान बहुत सारे लोग ट्रैक पर भी बैठे हुए थे।”

“जब रावण के पुतले को आग लगाई गई तो मंच से लोगों से पीछे हटने की अपील की गई। इसी दौरान लोग पीछे हटे और ट्रैक पर ट्रेन आ गई. इससे वहां मौजूद भीड़ का एक बड़ा हिस्सा ट्रेन की चपेट में आ गया।” अमृतसर के पुलिस कमिश्नर सुधांशु शेखर श्रीवास्तव ने पुष्टि की है कि 50 से ज़्यादा लोग मृत बताए जा रहे हैं और 100 से ज़्यादा ज़ख़्मी हैं। पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री ब्रह्म महिंद्रा ने बताया कि अब तक सिर्फ दो अस्पतालों में चालीस शव पहुंचाए जा चुके हैं।

घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर
घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर साझा किया जा रहा है। इसमें दिख रहा है कि लोग रावण दहन देख रहे हैं और मोबाइल से उसका वीडियो भी बना रहे हैं। तभी बाईं ओर से तेज़ रफ़्तार ट्रेन अचानक आती है। वीडियो से पता लगता है कि वहां मौजूद लोगों के ट्रेन के आने की भनक तक नहीं लगी। रविंदर सिंह रॉबिन ने बताया कि इस कार्यक्रम में मंच पर पंजाब के उपमुख्यमंत्री नवजोत सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू भी मौजूद थीं।