सिवनी मालवा। शौर्य दिवस 6 दिसम्बर को धर्म के लिए राजनीति एवं आपसी वैमनस्य भुला हिंदुओ में एकता की भावना जगाने वाले पंडित सूरज मिश्रा का शिवसेना के कार्यकर्ताओं तिलक लगा, माला पहना शाल श्रीफल से सम्मान किया।

शिवसेना के कार्यकर्ताओ का कहना है, कि इस विशाल रैली को ऐतिहासिक बनाने का श्रेय सूरज मिश्रा को जाता है। सूरज मिश्रा ने इस विशाल रैली में अहम भूमिका निभाई। सभी संगठनों एवं हिन्दू भाइयों को अपने मधुर व्यवहार से एक किया जिसके लिए शिवसेना हृदय से सम्मान करती है।

वही सूरज मिश्रा ने बताया कि ये सभी हिन्दू भाइयों के प्रेम और विश्वास के कारण ही हो पाया है। मेरा सिर्फ एक ही कहना है कि जब भी धर्म की बात हो सभी को एकमत होकर कार्य करना चाहिए। न कि ओछी मानसिकता के साथ राजनीति, हिंदुओ को एक होना है तो हमे आपसी बुराई को भूलना होगा। राजनीति के लिए धार्मिक भावनायों के साथ खिलवाड़ नही करना चाहिए।

इस अवसर पर नब्बा बाबा, संदीप राठौर, पूनम, विकास, देशांश, पिंटू मालवीय, अज्जु, विक्रांत, अमित एव सभी कार्यकरता उपस्थित रहे।