सिवनी मालवा। जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्यामकांत कुलकर्णी की अदालत ने सिवनी मालवा ठाकुर मोहल्ला हत्याकांड के आरोपियों गिरीश कुशवाहा और अंकित मालवीय को अमन तोमर की हत्या का आरोप मैं दोषी पाते हुए आजीवन कारावास की सजा एवं दो-दो हजार रूपये के अर्थदंड से दण्डित किया गया है। अर्थदंड अदा ना करने की स्थिति में दोनों आरोपियों को तीन-तीन माह का अतिरिक्त सश्रम कारावास भुगताये जाने के आदेश दिए गए हैं।

शासन की और से पैरवी एजीपी अजय श्रीवास्तव द्वारा की गई है, उक्त आशय की जानकारी देते हुए लोक अभियोजक शैलेंद्र गौर द्वारा बताया कि घटना दिनांक 21 अप्रैल 2018 को फरियादी गजेंद्र राजपूत रात्रि करीब 8:00 बजे साथी अमन उर्फ़ माइकल तोमर तथा गिद्दा और विकास कहार तीनों मोटरसाइकिल से गांधी चौक बाजार से घर जा रहे थे। जैसे ही ठाकुर मोहल्ला में बर्तन की दुकान के सामने पहुंचे उसी समय पीछे से एक मोटरसाइकिल पर आरोपी गिरीश कुशवाहा देवल मोहल्ले का एवं अंकित मालवीय तथा एक अवयस्क आरोपी मोटरसाइकिल से ओवरटेक कर आगे आए और उन्हें रोक कर गन्दी गन्दी गलियां देने लगे।

गालीयां देने से मना करने पर गिरीश कुशवाहा ने अमन तोमर के पेट में जान से मारने की नियत से चाकू मार दिया, जिससे उसे गंभीर चोट आई वह और उसका साथी दोनों माइकल को बचाने दौड़े तो आरोपी मारपीट कर भाग गए। मारपीट में चोट से इलाज के दौरान मौत हो गई। जिस पर से थाना सिवनी मालवा में अपराध क्रमांक 171/18 के अंतर्गत धारा 302/34का अभियोगपत्र आरोपी के विरुद्ध पेश किया गया था विचारण में आरोपी गिरीश कुशवाहा और अंकित मालवीय को अमन तोमर की हत्या के आरोप में दोषी पाते हुए आजीवन कारावास की सजा एवं दो-दो हजार रूपये के अर्थदंड से दण्डित किया गया है। अन्य एक अवयस्क आरोपी का विचारण बाल न्यायालय में चल रहा है।