बड़वाह। क्रिसमस डे ईसाई धर्म का प्रमुख पर्व है। यह पर्व विश्व में फैले ईसा मसीह के करोड़ों अनुयायियों के लिए पवित्रता का संदेश लाता है। इन दिनों हर जगह क्रिसमस डे की रौनक है। क्रिसमस को पूरी दुनिया में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। इसे ‘बड़ा दिन’ के भी नाम से जाना जाता है। क्रिसमस का पर्व प्रतिवर्ष 25 दिसंबर को मनाया जाता है। कहा जाता है कि इस दिन प्रभु ईसा मसीह का जन्म हुआ था। भगवान यीशु मसीह के जन्मदिन को लेकर सभी लोगो ने इस क्रिसमस डे को हर्षोल्लास के साथ मनाया। इसी कड़ी में नगर के गुरुनानक मार्ग निवासी अंतिम जिंदल और सन्नी जिंदल के परिवार ने भी सेंटा क्लॉथ की वेशभूषा धारण कर बच्चो के बीच जिंगल बैल जिंगल बैल की धुन पर डांस कर हर्षोउल्लास के साथ क्रिसमस डे मनाया।