मोहम्मद वसीम/बुरहानपुर। शनिवारा क्षेत्र की स्टेट बैंक के एटीएम से दो दिन पहले हुई 24लाख की चोरी का बदमाश गिरफ्तार हो गया है। शाहपुर क्षेत्र के बख्खारी गांव का हुकुम चौधरी यह बदमाश निकला। जो पिछले तीन साल से बैंकों के एटीएम में रुपयों की हेराफेरी कर रहा है। बदमाश के पास से फिलहाल ७ लाख रुपए बरामद हुए हैं, बाकी के रुपए उसने एटीएम मशीनों में जमा कर दिए।

शनिवार सुबह 6 बजे शनवारा एटीएम से 24 लाख 41 हजार की चोरी हुई थी। जहां बदमाश सीसीटीवी कैमरे में कैद हुआ था। इस घटना को बदमाश ने केवल 6 मिनट में अंजाम दिया था। इससे पुलिस को अंदाजा हो गया कि बदमाश को एटीएम का पासवर्ड पता था, इसलिए उसने इस घटना को अंजाम दिया। बस इसी आधार पर पुलिस बैंक के इर्दगिर्द बदमाश को तलाशने लग गई। पहले बैंक के अफसर दिनेश पारीखक और वल्लभ लाड से पूछताछ की गई। जिनके पास ही इसका पावर्ड रहता था।

पता चला की मशीन में खराबी आने पर एटीएम को संचालित करने वाली प्रायवेट कंपनी एजेंटी हिताची पेमेंट सर्विस, सीएमएस कैश मैनेजमेंट सर्विस या लोजिस्टिक्स प्रायवेट लिमिटेड के कर्मचारियों को बुलाते थे। इसमें से सीएमएस कंपनी में काम करने वाला हुकुम को बैंक अफसर ने बुलाया था, जहां उसने यह पासवर्ड अपनी निगरानी में रख लिया। इसी पासवर्ड को वह दिमाग में रखकर एटीएम में पहुंचकर २४ लाख ४१ हजार रुपए चुरा लिए। पुलिस ने बदमाश के घर में पहुंचकर उसे गिरफ्तार कर लिया। घर से सात लाख रुपए बरामद किए गए हैं। बाकी रुपए उसने एटीएम मशीनों में जमा करा दिए।

यह खेल आया सामने

जानकारी के अनुसार इस चोरी के आरोपी को पकडऩे के बाद एक बड़ा खुलासा भी हुआ। जिससे पुलिस की भी नींद उड़ गई। एटीएम सर्विस में काम करने वाला युवक एटीएम में पूरे रुपए जमा नहीं कराता था। २५ लाख जमा करने के दिए दिया जाए तो तो 20 लाख ही वह जमा करता था। बाकी पांच लाख रुपए एक माह तक उपयोग कर लेता था। फिर अन्य एटीएम में जब रुपए जमा करने की बारी आती तो इसमें पांच लाख कम डालकर पहले वाले एटीएम में कम रखे पांच लाख जमा कर देता था। इस तरह खेल वह तीन साल से कर रहा था। बैंक का ऑडिट होने से पहले वह एटीएम में रुपयों की पूर्ति कर देता था।

।। कर्जे के कारण करना पड़ी चोरी ।।

बताया जा रहा है कि बदमाश ने खुद की शादी में रुपए खर्चा कर दिए और प्लॉट खरीदने के कारण कर्जे में आ गया। इसलिए इस चोरी की वारदात को अंजाम दिया। 24 लाख में से 7 लाख घर पर रखे और बाकी रुपए एटीएम मशीनों में जमा कर दिए।

ऐसे दिया घटना को अंजाम

पुलिस के अनुसार बैंक ने 22 दिसंबर को 25 लाख लाख रुपए एटीएम में रखे थे, पहले से उसमें 10 लाख 20 हजार 500 रुपए थे। ऐसे कुल 35 लाख 20 हजार 500 रुपए एटीएम में जमा कर दिए गए। सुबह होने तक 28 लाख 99 हजार रुपए चोरी होने के पहले तक बचे थे। इसमें से बदमाश ने 24.41 लाख रुपए ले गया। चोर एटीएम में 4 लाख 58 हजार 500 रुपए छोड़ गया था। जब एटीएम में रुपए खत्म हुए, तो उपभोक्ताओं ने शिकायत करने पर बैंक अफसरों को इसकी खबर लगी।

बदमाश को पकडऩे में लालबाग थाना प्रभारी दिनेश शाह, कोतवाली थाना लखनसिंह बघेल, एसआई नारायण रावल, एएसआई मनीष पटेल, प्रधान आरक्षक नईम खान, राजेंद्र बागुल, रामगोपाल, देवेंद्र पाटिल, शत्रुघन, अजय वारुडे, विक्रम, मुकेश पाटीदार, सचिन मिश्रा, नितेश बिसे, धनराज पाटिल, शादाब ने इस मामले को 48घंटे में ट्रेस किया। पूरी टीम को इनाम देने की घोषणा पुलिस अधीक्षक पंकज श्रीवास्तव ने की।