नयी दिल्ली। दिल्ली मेट्रो के किराये में वृद्धि के मामले में दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) बोर्ड ने हस्तक्षेप करने से आज रात इंकार कर दिया जिसके बाद मेट्रो के किराये में वृद्धि का रास्ता साफ हो गया। इसके तहत किराये में पांच किलोमीटर से ज्यादा दूरी की यात्रा के लिए 10 रुपये तक की बढ़ोत्तरी की जाएगी।

दिल्ली मेट्रो के किराये में एक साल के भीतर यह दूसरी वृद्धि होगी। पिछली बार किराये में बढ़ोत्तरी के महज पांच महीने के भीतर फिर से किराया बढ़ने से पांच किमी. से ज्यादा का सफर तय करने वाला हर यात्री प्रभावित होगा। 32 किमी. से ज्यादा की यात्रा के लिए अधिकतम किराया अब 60 रुपये होगा।

नया किराया इस तरह होगा
दो किमी. तक के लिए 10 रुपये, दो से पांच किमी. तक के लिए 20 रुपये, 5 से 12 किमी. के लिए 30 रुपये, 12 से 21 किमी. के लिए 40 रुपये, 21 से 32 किमी. के लिए 50 रुपये और 32 किलोमीटर से ज्यादा की यात्रा के लिए 60 रुपये।

स्मार्ट कार्ड का इस्तेमाल करने वाले यात्रियों को प्रत्येक यात्रा पर दस फीसदी की छूट मिलती रहेगी। डीएमआरसी के अनुमान के अनुसार मेट्रो के कुल यात्रियों में से 70 फीसदी स्मार्ट कार्ड उपभोक्ता हैं। उन्हें सुबह आठ बजे तक, दोपहर को 12 बजे से पांच बजे के बीच और रात को नौ बजे से मेट्रो सेवाएं समाप्त होने तक सामान्य समय के दौरान 10 फीसदी की अतिरिक्त छूट मिलेगी।

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) के निर्णय लेने वाले शीर्ष निकाय डीएमआरसी बोर्ड ने इस मामले में ‘‘हस्तक्षेप’’ करने से इनकार कर दिया जिसके बाद इसकी घोषणा की गई। बोर्ड ने कहा कि किराया निर्धारण समिति की सिफारिशों में दखल देने या बदलाव करने का बोर्ड के पास कोई कानूनी अधिकार नहीं है। सूत्रों ने बताया कि डीएमआरसी बोर्ड की बैठक में नया किराया निर्धारण समिति बनाने के दिल्ली सरकार के प्रस्ताव को खारिज कर दिया।

(पढ़ते रहिए Nishpaksh baat हमें यू ट्यूब चैनल पर सब्सक्राइब करें, ट्विटर और फ़ेसबुक पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं। मोबाइल पर खबरे पढने के लिए प्ले स्टोर पर से डाउनलोड करे निष्पक्ष बात (Nishpaksh baat Live Appएप्लीकेशन)